Prasuti Sahayata Yojana 2020-21: Free Online Registration

Prasuti Sahayata Yojana 2020-21: Free Online Registration

Prasuti Sahayata Yojana 2020-21 Registration | Madhya Pradesh Prastuti Sahayata Yojana 2020-21 Online आवेदन कैसे करें | Prastuti Sahayata Scheme की जानकारी हिंदी में |

Prasuti Sahayata Yojana मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 1 अप्रैल 2018 को शुरू किया गया था इस योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य है-

मध्यप्रदेश में रहने वाले गरीब या आर्थिक रूप से कमजोर व मजदूर (श्रमिक) वर्ग की गर्भवती माताओं को आर्थिक रूप सहायता प्रदान करने हेतु Prasuti Sahayata Yojana को लागू किया गया है।

Prasuti Sahayata Yojana में MP गवर्मेंट गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों की गर्भवती माताओं को गर्भावस्था के समय आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करने,

और अपनी जीवन को बेहतर तरीके से जीने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने ₹16000 की वित्तीय सहायता Prasuti Sahayata Yojana के तहत प्रदान की जाएगी।

Prasuti Sahayata Yojana के तहत गर्भवती महिला के गर्भावस्था के अंतिम 3 महीनों में श्रमिक महिलाओं को उनके वेतन का 50 % राशि हितलाभ के रूप में प्रदान की जाएगी।

इसके बाद श्रमिक महिला के प्रसव होने के बाद चिकित्सा के दौरान होने वाले व्यय या खर्चे को पूरा करने के लिए 1000 रुपये की राशि दी जाएगी।

इसके अतिरिक्त MP गवर्मेंट मातृत्व योजना का लाभ लेने वाली महिला के पति को भी 15 दिनों पितृत्व प्रसव पर लाभाविंत कर रही है।

Prasuti Sahayata Yojana 2020-21: Free Online Registration
Prasuti Sahayata Yojana

Prasuti Sahayata Yojana में Registration कैसे करना है

मध्यप्रदेश में रहने वाले गरीब इच्छुक गर्भवती महिला उम्मीदवार स्वयं के गर्भवस्था के दौरान अपने स्वास्थ्य व बच्चे के स्वास्थ्य हेतु जरूरतों को पूरा करने के लिए अगर

Prasuti Sahayata Yojana का लाभ लेना चाहते हैं तो ऐसे महिलाएं मध्यप्रदेश सरकार के इस योजना के तहत अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं उसके पश्चात ही उन्हें Prasuti Sahayata Yojana का लाभ मिल सकेगा।

इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं हेतु राज्य सरकार ने 16000 रुपये की राशि का प्रावधान किया है लेकिन इस राशि को सरकार दो किस्तों में देगी।

पहली किस्त में माता के गर्भावस्था के दौरान बच्चे की व गर्भवती महिला की प्रसव की जांच ANM या चिकित्सक द्वारा कम से कम 4 जांच करने पर 4000 रुपये की राशि दी जाएगी।

वहीं दूसरी क़िस्त की बात करें तो यह क़िस्त तब मिलती है जब महिला की शाशकीय अस्पताल में प्रसव हुआ हो और नवजात शिशु का संस्थागत जन्म उपरांत पंजीयन कराने और शिशु को HBV टीकाकरण Zero Dose , VCG, OPD and HBV वैक्सीनशन कराने के बाद 12000 रुपये की राशि सरकार द्वारा दी जाएगी।

Prasuti Sahayata Yojana का मुख्य उद्देश्य क्या है

Prasuti Sahayata Yojana का मुख्य उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों / श्रमिक परिवार की गर्भवती माताओं को गर्भावस्था के समय आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करने

और अपनी जीवन को बेहतर तरीके से जीने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने ₹16000 की वित्तीय सहायता Prasuti Sahayata Yojana के तहत प्रदान कर रही है।

जब श्रमिक महिला गर्भवती होती है तो उनके पास खाने के लिए पैसे भी नहीं होते हैं और साथ ही काम भी नहीं कर पाती हैं तो इसी की पूर्ति हेतु राज्य सरकार ने इस योजना कक शुरू किया है।

ताकि गरीब/श्रमिक गर्भवती महिला अपने व अपने बच्चे का पालन व पोषण बहुत अच्छे से कर सके ताकि आने वाला बच्चा देश दुनिया को देख सके और साथ ही देश का नाम रोशन कर सके।

इस योजना के तहत मध्यप्रदेश सरकार 16000 रुपये की सहायता राशि देती है ताकि गर्भवती महिला अपने आर्थिक स्थिति से लड़ते हुए अपनी जरूरतों को पूरा कर सकें।

मध्यप्रदेश Prasuti Sahayata Yojana के लाभ

  1.  Prasuti Sahayata Yojana के तहत मध्यप्रदेश के सभी बर्ग के सभी गर्भवती श्रमिक महिलाओं को लाभ होगा।
  2.  जननी सुरक्षा योजना के तहत पात्र महिलाएं भी Prasuti Sahayata Yojana का लाभ ले सकते हैं।
  3.  पहला गर्भधारण करने पर पात्र महिला को प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के अंतर्गत पहली व दूसरी क़िस्त के रूप में 3000 रुपये का भुगतान किया जायेग इसके बाद में शेष राशि 1000 रुपये लाभकारी महिला को मुख्यमंत्री, श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना द्वारा प्रदान की जायेगी।
  4.  Prasuti Sahayata Yojana का लाभ 18 वर्ष के ऊपर की गर्भवती महिला एवं पंजीकृत असगठित श्रमिकों को ही दिया जाएगा।
  5.  इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को 16000 रुपयों की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
    इस योजना का लाभ मध्यप्रदेश के ग्रामिण व शहरी क्षेत्र के असंगठित श्रमिक महिला उठा सकते हैं।

मध्यप्रदेश Prasuti Sahayata Yojana हेतु आवश्यक दस्तावेज

1. गर्भवती महिला के पास बैंक एकाउंट हो जो आधार नंबर से लिंक हो
2. मध्यप्रदेश का स्थायी निवासी हो
3. जन्म प्रमाण पत्र हो (आयु 18 वर्ष से कम नहीं होना चाहिए)
4. आधार कार्ड
5. पहचान पत्र
6. प्रेग्नेंसी का प्रमाण पत्र (जांच आदि)
7. डिलेवरी से सम्बंधित दस्तावेज
8. मोबाइल नंबर
9. पासपोर्ट साइज फोटो

Prasuti Sahayata Yojana में आवेदन कैसे करें

जो गर्भवती महिला Prasuti Sahayata Yojana के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें अपने गांव में या गांव के नजदीकी लोक स्वास्थ्य केन्द्र या परिवार कल्याण विभाग में जाकर आवेदन फॉर्म ले सकते हैं।

आवेदन फॉर्म मिलने के बाद उसमें आवश्यक जानकारी भरकर जैसे – नाम, पति नाम, पता, आधार नंबर, गर्भावस्था की तारीख आदि भरकर उक्त दस्तावेजों की छायाप्रति संलग्न कर जमा कर दें।

नोट– गर्भवती महिला को प्रसव की तारीख से 6 सप्ताह पहले आवेदन करना जरूरी है । यदि किसी वजह से समय पर आवेदन नहीं किया जा सका है तो डिलीवरी के पहले व डिलीवरी के तुरंत बाद भी किया जा सकता है।

मुझे लगता है कि Prasuti Sahayata Yojana से संबंधित सभी जानकारी आपको मिल गई होगी । में आशा करता हूँ कि ऐसे ही जानकारी पाने के लिए यहाँ पुनः पधारेंगे।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: