5 वे अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस | International Ayurveda Day

5 वे अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस | International Ayurveda Day

International Ayurveda Day | 5 वे अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस प्रत्येक वर्ष धन्वंतरी जयंती के अवसर पर मनाया जाता है प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी 13 नवंबर 2020 को अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया जाएगा।

आयुर्वेद दिवस मनाने का सिलसिला वर्ष 2016 से शुरू हुआ है जो इस साल 13 नवंबर को पांचवे अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के रूप में मनाया जाएगा

भगवान धन्वंतरी को आयुर्वेद का दिव्य प्रचारक माना जाता है उन्हें स्वास्थ्य और धन देने के गुणों से सम्मानित किया जाता है ।

इस कारण धन्वंतरी जयंती को चिकित्सा की इस प्रणाली का राष्ट्रीयकरण करने के लिए आयुर्वेद दिवस मनाने के लिए पसंद किया गया था जो कि इसके परम वैश्वीकरण के लिए एक आधारशिला साबित हो रहा है

आयुर्वेद चिकित्सा को प्राचीन काल से ही सबसे अच्छा चिकित्सा माना जाता है जिसका किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिलता है और रोगों को जड़ से खत्म करने में सक्षम होता है

 आयुर्वेद के उद्देश्य

आयुर्वेद के मुख्य रूप से दो उद्देश्य हैं

  1. पहला स्वस्थ मनुष्य की स्वास्थ्य की रक्षा करना और
  2. दूसरा रोगी मनुष्य की रोग को दूर करना

International Ayurveda Day | अंतरराष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाने के मुख्य उद्देश्य

  • आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति को आगे बढ़ाने का प्रयास
  • लोगों को आयुर्वेद के प्रति जागरूक करना और इसके शक्तियों को पहचानना
  • लगातार आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का उपयोग किया जाए तो मृत्यु दर को काफी हद तक कम किया जा सकता है
  • हमारे आने वाले पीढ़ी के लिए आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति के बारे में बताना हुआ उन्हें जागरूक करना
  • हमारे समाज में भी चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देना

Leave a Reply

%d bloggers like this: