फरिश्ते दिल्ली के | Farishte Dilli ke

फरिश्ते योजना के (Farishte Dilli ke) लॉन्च होने के बाद दिल्ली के निजी अस्पताल भी सड़क हादसे में घायल व्यक्ति का इलाज करने से मना नहीं कर सकते |

फरिश्ते दिल्ली के | Farishte Dilli ke

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने फरिश्ते दिल्ली के योजना की शुरुआत किया है जिसकी सराहना भारत के सभी राज्य करते हैं।

क्योंकि फरिश्ते दिल्ली के एक ऐसी योजना है जिसमें अगर कोई व्यक्ति दिल्ली के सड़कों में एक्सिडेंट होकर सड़क पर ही तड़प रहा है और कोई भी सड़क पर चलने वाला व्यक्ति उस व्यक्ति को अस्पताल तक लेकर जाता है और उसकी जान बचाने में मददगार साबित होता है तो ऐसे व्यक्ति को दिल्ली सरकार सम्मानित करेगी ।

आजकल इस भागदौड़ भरी जिंदगी में कोई व्यक्ति किसी के लिए समय नहीं निकाल पाता है मानाकि कोई व्यक्ति दिल्ली के सड़कों से गुजरता हुआ अपने ऑफिस जाता है और उसी के सामने कोई सड़क दुर्घटना हो जाता है और दुर्घटना स्थल में व्यक्ति तड़पता रहता है और वहीं उसकी मृत्यु भी हो जाती है।

और ऑफिस जाने वाला व्यक्ति देखता रहता है क्योंकि उसके पास समय नहीं होता है और अगर समय होता है और मदद करना भी चाहता है लेकिन वह ये सोचकर पीछे हट जाता है कि यह तो पुलिस केश है और पुलिस के पचड़े में कोई नहीं पड़ना चाहता है।

तो इसी सोच को बदलने के लिए दिल्ली सरकार ने (फरिश्ते दिल्ली के) Farishte Dilli ke योजना की शुरुआत कर दी है ताकि आने वाले कोई भी व्यक्ति की मौत सड़क दुर्घटना से न हो।

हालांकि सड़क दुर्घटना दिल्ली में ही नहीं बल्कि सभी प्रान्तों में होता है लेकिन अभी तक दिल्ली के अलावा कोई प्रान्त ऐसी कोई योजना लॉन्च किया है, जिसमें दुर्घटना स्थल से अस्पताल तक ले जाने वाले व्यक्ति को सम्मानित किया जाता है।

फरिश्ते दिल्ली के | Farishte Dilli ke
फरिश्ते दिल्ली के | Farishte Dilli ke

फरिश्ते दिल्ली के योजनान्तर्गत व्यक्ति को क्यों सम्मानित किया जाता है?

फरिश्ते दिल्ली के | Farishte Dilli ke योजनान्तर्गत व्यक्ति को सम्मानित इसलिए किया जाता है कि आगे आने वाले समय में अगर किसी भी व्यक्ति या आम आदमी की सड़क दुर्घटना होती है तो उसे कोई भी आम आदमी दुर्घटना स्थल से अस्पताल तक लेकर जाए और उस व्यक्ति की जान बचाने में मददगार साबित हो।

इस इंसानियत को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली सरकार इस योजना के तहत जो भी व्यक्ति जान बचाने में मददगार होता है उसे 2000 रुपये की राशि देकर सम्मानित करता है।

ताकि कोई व्यक्ति किसी सड़क दुर्घटना के कारण अपना जान गवाने से बच सके और उनकी मदद करने में कोई भी व्यक्ति संकोच न करे और न ही पुलिस के बारे में सोचे।

इस योजना की शुरुआत वर्ष 2017 में दिल्ली सरकार ने किया है।

Sukanya Samriddhi is the Best Yojana for Daughters: Invest in 2020-21

Farishte Dilli ke | फरिश्ते दिल्ली के योजना के मुख्य बिंदु?

1. सामान्य जनता को प्रोत्साहित करने के लिए व्यक्ति दुर्घटना होने पर उस व्यक्ति को बिना किसी संकोच या भय से उस व्यक्ति की मदद करें।
2. दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति का इलाज का पूरा खर्च दिल्ली सरकार वहन करेगी।
3. अगर कोई व्यक्ति दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को पास के आसपास पहुंचा देता है तो उस व्यक्ति को प्रोत्साहित हेतु 2000 रुपये की राशि दिल्ली सरकार देती है और साथ ही प्रोत्साहन सर्टिफिकेट भी देती है।
4. दिल्ली सरकार ने दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति की मदद करने वाले व्यक्ति के खिलाफ किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं होगी यह दिल्ली पुलिस को निर्देश हैं ताकि लोग मदद करने से न डरें।

फरिश्ते दिल्ली के अंतर्गत मांगे जाने वाले दस्तावेज

दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति का पहचान पत्र अगर यह व्यक्ति अधिक नाजुक हालत में है तो उसके रिस्तेदार उसके पहचान पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं।

दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति की मदद करने वाले व्यक्ति का प्रमाण पत्र , एड्रेस, मोबाइल नंबर आदि जानकारी अस्पताल के एडमिनिस्ट्रेशन विभाग में जमा करना होगा ताकि उस व्यक्ति को सम्मानित किया जा सके।

दोस्तों Farishte Dilli ke यह योजना दिल्ली सरकार की एक सरहनीय योजना है। लेकिन आपको क्या लगता है ऐसी ही योजना भारत के अन्य राज्यों में भी लागू होना चाहिए अपने विचार जरूर शेयर करें।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: